Thursday, August 30, 2007

टूटता बदन । बहुत दर्द है बाबा . ..... .. . . ..


बड़ी टेंशन है भाई। अभी कुच्छ ही दिन हुए हैं ऑफिस आते हुए और पूरे बदन का जो हाल हो रहा है वोह तो बताते नहीं बन रहा । मेरे severe neckache और backache हो रहा है और अब जा रह हूँ ergonomics deptt से consult करने। Daily balm लगा के सोता हूँ। कोई इलाज ढूँढने कि कोशिश कर रहा हूँ। उम्मीद है कि कोई हल निकला ही आयेगा।

1 comment:

उन्मुक्त said...

अरे इतने मस्त ऑफिस में भी - टेंशन। स्वागत है हिन्दी चिट्ठाजगत में।